0

Shree Krishna Hindi Poetry Kavita

Shree Krishna Hindi Poetry Kavita

Sponsored Shree Krishna Hindi Poetry Kavita तुम्हे देखकर आज जी चाहता है, तुम्हे प्राण प्रीतम आँखों में बिठाये, अगर आसमा तक रसाई हो अपनी, तुम्हे आज तारो की माला पहनाये, तेरे पाँव धोये हम फूलो के रश से, तुम्हे आज नहलाये हम चांदनी… Continue Reading

Share Button